chessbase india logo

NEW! Learn the Ruy Lopez with Caruana

Over 16 hours of training in the Ruy Lopez by World Championship Challenger Fabiano Caruana. It's a bundle of three DVDs and it is out now. You can buy them now individually or buy all three volumes together. Order Vol.1-3 from here, or read more about them.

विश्व जूनियर - जीत के साथ प्रग्गानंधा सयुंक्त बढ़त पर

18/10/2019 -

विश्व जूनियर शतरंज चैंपियनशिप में तीसरा दिन जाते जाते भारत के लिए प्रग्गानंधा की बेहतरीन जीत के साथ खुशखबरी लेकर आया । अपने बेहतरीन खेल से प्रग्गानंधा नें महान विश्व चैम्पियन पेट्रोसियन की याद दिला दी । उन्होने अपने बेहतरीन खेल से ना सिर्फ मंगोलियन खिलाड़ी बाटसुरेन डंबसुरेन को पराजित किया बल्कि 3.5 अंको के साथ प्रतियोगिता में एक बार फिर सयुंक्त बढ़त हासिल कर ली । बालिका वर्ग में मंगोलिया की अलतान्ततुया बोल्दबातर चारो मैच जीतकर एकल बढ़त पर चल रही है । जबकि भारत की प्रियांका नौटाकि ,रक्षिता रवि और अर्पिता मुखर्जी सयुंक्त दूसरे स्थान पर चल रही है । पढे यह लेख 

विश्व जूनियर R2- प्रग्गानंधा की दूसरी जीत ,मृदुल का उलटफेर

17/10/2019 -

विश्व जूनियर शतरंज चैंपियनशिप में राउंड 2 के मुक़ाबले हो गए है और दो राउंड तक जहां भारत के विश्व अंडर 18 चैम्पियन प्रग्गानंधा नें अपनी लगातार जीत से अच्छी खबर दी है तो खिताब के प्रबल दावेदार वर्तमान राष्ट्रीय चैम्पियन अरविंद चितांबरम की दूसरे राउंड मे हार एक बड़ा झटका रही । मुरली कार्तिकेयन पहला राउंड ड्रॉ खेलने के बाद दूसरा राउंड जीतकर लय में लौटते नजर आए । बालिका वर्ग में भारत की मृदुल देहांकर नें आज पहले टेबल पर दूसरी वरीय ग्रीस की स्टावरौला को मात देते हुए सबसे बड़ा उलटफेर किया । बालिका वर्ग में भारत की चार खिलाड़ी मृदुल ,प्रियांका ,रक्षिता और अर्पिता मुखर्जी अपने दो मैच जीतकर सयुंक्त बढ़त पर चल रही है । पढे यह लेख 

रोमांच के साथ विश्व जूनियर चैंपियनशिप का आगाज

16/10/2019 -

विश्व जूनियर शतरंज चैंपियनशिप का देश में आठवाँ तो दिल्ली में पहली बार हो रहे आयोजन का भव्य शुभारंभ रूस के पूर्व उप प्रधानमंत्री और वर्तमान में विश्व शतरंज संघ के अध्यक्ष अरकादी द्वारकोविच नें टॉप सीड ईरान के अमीन ताबतबाई और चीन की जू जिनर के साथ पहली चाल चल कर किया । प्रतियोगिता में मेजबान भारत समेत दुनिया के 41 देशो के 189 शीर्ष जूनियर खिलाड़ी भाग ले रहे है । पहले ही दिन से रोमांच और उलटफेर देखेने को मिले और ओपन वर्ग में तो शीर्ष के तीनों खिलाड़ियों को ड्रॉ खेलने पर मजबूर होना पड़ा तो संकल्प गुप्ता नें 5 वे सीड क्यूबा के अल्बोर्नोज कार्लोस ( 2581) को हराकर उलटफेर किया तो बालिका वर्ग में भारत की तनिस्का कोटिया नें चीन की टॉप सीड जू जिनेर को ड्रॉ पर रोक लिया । पढे यह लेख । 

भारत के प्रग्गानंधा नें रचा इतिहास बने विश्व यूथ विजेता !

13/10/2019 -

मुंबई में सम्पन्न हुई विश्व यूथ शतरंज चैंपियनशिप में भारत नें तो सर्वाधिक 7 पदक हासिल करते हुए अपना दबदबा दिखाया पर असल में भारत की शान बढ़ाई नन्हें प्रग्गानंधा नें जिन्होने 14 वर्ष की छोटी सी आयु में विश्व अंडर 18 का खिताब अपने नाम कर लिया । इससे पहले 2013 में उन्होने विश्व अंडर 8 तो 2015 में विश्व अंडर 10 का खिताब जीता था । इस लिहाज से देखे तो उन्होने महज 4 वर्ष के अंतराल में अपने खेल में और बड़ी छलांग लगाई है जो भविष्य में उनके विश्व शतरंज चैम्पियन बनने की उम्मीद भी जगाती है । भारत को अन्य किसी वर्ग में स्वर्ण तो हासिल नहीं हुआ पर तीन रजत और तीन कांस्य के साथ भारतीय प्रतिभाओं नें दुनिया के सामने अपना लोहा मनवाया । रूस नें सर्वाधिक तीन स्वर्ण पदक अपने नाम किए । आपको बता दे की भारत में विश्व यूथ शतरंज चैंपियनशिप आयोजित होने का यह पहला मौका था और दुनिया भर के 64 देशो के 462 खिलाड़ियों नें इसमें प्रतिभागिता कर इसे बेहद खास बनाया । पढे यह लेख अमृता मोकल की शानदार तस्वीरों और सागर शाह के विडियो के साथ । 

विश्व यूथ 2019 - प्रग्गानंधा विश्व खिताब से बस एक कदम दूर

11/10/2019 -

भारत के मुंबई मे चल रही विश्व यूथ शतरंज चैंपियनशिप के परिणाम आने मे बस एक राउंड का इंतजार रह गया है । 10 राउंड के बाद लगभग हर वर्ग मे भारत का पदक जीतने की अच्छी स्थिति मे है पर खासतौर पर अगर विश्व खिताब की बात करे तो अंडर 18 बालक वर्ग में आर प्रग्गानंधा की संभावना सबसे बेहतर नजर आ रही है । आज प्रग्गा नें कठिन होते जा रहे राउंड में लगातार तीसरी जीत दर्ज करते हुए 8.5 अंको के साथ अपनी एकल बढ़त को कायम रखा है । 2748 के रेटिंग प्रदर्शन के साथ प्रग्गा अभी तक प्रतियोगिता में अविजित रहे । उनके अलावा वन्तिका अग्रवाल ,अरोण्यक घोष ,साइना सोनालिका ,मौनिका अक्षया ,श्रीहरी एलआर ,अभिनंदन आर ,दिव्या देशमुख और रक्षिता रवि भी भारत को पदक दिलाने की स्थिति में नजर आ रहे है । पढे यह लेख  

विश्व यूथ 2019 - भारत के प्रग्गानंधा विश्व खिताब की ओर

10/10/2019 -

विश्व यूथ शतरंज चैंपियनशिप में भारत के लिए सबसे बड़ी खबर बनती नजर आ रही है और वो यह है की भारत के स्टार खिलाड़ी आर प्रग्गानंधा 14  वर्ष की उम्र में विश्व अंडर 18 का खिताब जीतने की ओर तेजी से बढ़ते नजर आ रहे है । काले मोहरो से खेलते हुए आज उन्होने जिस अंदाज में जीत दर्ज की उससे उनका शानदार लय में होना तो नजर आता है साथ ही लगभग ड्रॉ मैच को जीत लेना उनके आत्मविश्वास की कहानी भी कहता है । आज प्रग्गानंधा नें बेलारूस के जारूबितस्की वियचस्लौ को मात देते हुए खुद को 7.5 अंको पर पहुंचा दिया । कल तक उनके साथ सयुंक्त बढ़त पर चल रहे ईरान के आर्यन घोलामी की टॉप सीड अर्मेनिया के सर्गस्यन शांत से पराजित होना भी प्रग्गा के पक्ष में गया और अब चूकी वह इन दोनों ही खिलाड़ियों से मुक़ाबले खेल चुके है उनका आधा अंक की बढ़त लेना निर्णायक साबित हो सकता है । पढे यह लेख देखे उनका खेल । 

विश्व यूथ शतरंज - प्रग्गानंधा ,अभिनंदन ,रक्षिता बढ़त पर

09/10/2019 -

मुंबई मे चल रही विश्व यूथ शतरंज चैंपियनशिप अब अपने अंतिम पड़ाव के करीब आ गयी है । आठ राउंड के पूरे होने के बाद भारत के तीन खिलाड़ी प्रग्गानंधा आर ,अभिनंदन आर और रक्षिता रवि पहले स्थान पर तो कई खिलाड़ी दूसरे और तीसरे स्थान के आस पास है तो अगर अंतिम तीन राउंड भारत के अनुसार सही गए तो इस विश्व यूथ में भारत कई पदक हासिल कर सकता है । खैर आज आठवाँ राउंड प्रग्गा और अभिनंदन के नाम रहा । प्रग्गा नें अंडर 18 वर्ग में हमवतन इनियन पी को मात देते हुए शीर्ष पर वापसी की तो अभिनंदन नें अपना स्वप्निल प्रदर्शन जारी रखते हुए सबसे आगे चल रहे हमवतन एलआर श्रीहरि को मात दी और एकल बढ़त कायम कर ली ।

फीडे ग्रांड स्विस :क्या आनंद बनाएँगे कैंडीडेट में जगह ?

07/10/2019 -

फीडे ग्रांड स्विस शुरू होने में अब सिर्फ 2 दिन बाकी है और कल मतलब 8 अक्टूबर से खिलाड़ी आइल ऑफ मैन पहुँचने लगेंगे । फीडे के इतिहास में पहली बार होने जा रहे इस आयोजन पर दुनिया भर की नजरे टिकी हुई है और कारण साफ है की जीतने वाले खिलाड़ी को सीधे फीडे कैंडीडेट में जगह मिल जाएगी मतलब इस माह की 21 तारीख को हमें कैंडीडेट 2020 का चौंथा प्रतिभागी मिल जाएगा । खैर रोचक बात मेगनस कार्लसन और फबियानों करूआना का भी इसमे भाग लेना है । भारत की नजरे 5 बार के विश्व चैम्पियन विश्वनाथन आनंद पर लगी रहेंगी क्यूंकी उनके लिए यह कैंडीडेट में जगह बनाने का आखिरी मौका होगा । उनके अलावा भी भारत से पेंटाला हरिकृष्णा ,विदित गुजराती समेत कुल 15 भारतीय खिलाड़ी अपना दमखम लगाते नजर आएंगे । पढे यह लेख  

विश्व यूथ 2019 - भारत को है कई पदक की उम्मीद

06/10/2019 -

भारत के शतरंज इतिहास में पहली बार विश्व यूथ शतरंज चैंपियनशिप का आयोजन देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में किया जा रहा है । 64 खानों के इस खेल में 64 देशो के खिलाड़ियों की प्रतिभागिता नें इसकी प्रतिष्ठा में चार चाँद लगा दिये है । 462 खिलाड़ी जिसमें से कई निश्चित तौर पर भविष्य के विजेता होंगे अपने अपने देशो के लिए पदक जीतने के प्रयास करते नजर आ रहे है । भारत के लिहाज से विश्व यूथ हमेशा से खास रहा है और भारत नें कई बार इसमें अपनी श्रेष्ठता साबित की है इस बार भी भारत को मेजबान होने के नाते कई खिलाड़ियों से बड़ी उम्मीद है । खैर प्रग्गानंधा प्रतियोगिता में भारत का सबसे बड़ा नाम है जो फिलहाल स्वर्ण पदक पर अपनी निगाहे लगाए हुए है पढे यह लेख 

तैमूर रादजाबोव बने विश्व कप विजेता ,डिंग उपविजेता

05/10/2019 -

25 दिन से चल रहे शतरंज जगत के सबसे बड़े आयोजन में से एक "फीडे विश्व कप " का समापन ठीक उसी तरह हुआ जैसा की इस तरह के आयोजन से उम्मीद की जाती है । शीर्ष स्तर की प्रतियोगिता ,अनुभवी ,मेहनती और प्रतिभावन  खिलाड़ियों के बीच यह जंग आखिरकर अजरबैजान के तैमूर राद्जाबोव के विजेता बनने के साथ अपने मुकाम तक पहुँच गयी । दुनिया भर के हर कोने से 128 खिलाड़ियों को लेकर शुरू हुई यह प्रतियोगिता आखिरकार तैमूर के तौर पर अपने विजेता को पाने में कामयाब रही । चीन के डिंग लीरेन दुर्भाग्यशाली रहे जो उन्हे लगातार दूसरी बार उपविजेता के स्थान से संतोष करना पड़ा । पूरी प्रतियोगिता में अपराजित नजर आ रहे डिंग के विजयरथ को पहले तैमूर नें रोका और टाईब्रेक मुक़ाबले में रैपिड के 4 मैच ड्रॉ होने के बाद ब्लिट्ज़ के दोनों मुक़ाबले जीतकर विश्व कप अपने नाम कर लिया । फ्रांस के मेक्सिम लाग्रेव चीन के यू यांगी से आखिरकार पार पाने में कामयाब रहे और तीसरे स्थान पर रहे ।  प्रतियोगिता में कुल 16 लाख अमेरिकन डॉलर की पुरूष्कार राशि खिलाड़ियों के बीच बांटी गयी । तैमूर को 1,10,000 डॉलर , डिंग को 80 हजार तो मेक्सिम को 60 हजार डॉलर दिये गए । पढे यह लेख 

कौन बनेगा विश्व कप विजेता ? फैसला अब टाईब्रेक से !

03/10/2019 -

कांति मनसीस्क में पिछले करीब एक माह से चल रहे फीडे विश्व कप के पहले तीन खिलाड़ी कौन होंगे ? कौन जीतेगा विश्व कप ? किसके हिस्से आएंगे स्वर्ण ,रजत और कांस्य पदक ? इन सभी सवालों के जबाब मिलेंगे कल होने वाले टाईब्रेक मुक़ाबले से । क्यूंकी चार क्लासिकल मुकाबलों के बाद निर्णय नहीं आया है और चाहे वो विजेता बनने के लिए चीन के डिंग लीरेंन और अजरबैजान के तैमूर रादजाबोव के बीच मुक़ाबला रहा हो या फिर तीसरे स्थान के लिए फ्रांस के मेक्सिम लाग्रेव और चीन के यू यांगयी के बीच हुआ मुक़ाबला परिणाम 2-2 से बराबर रहा है और अब उन्हे निर्णय टाईब्रेक मुक़ाबले मतलब , रैपिड ,ब्लीट्ज़ और जरूरत पड़ी तो अरमागोदेन का मुक़ाबला खेलकर करना होगा । कल इस टाईब्रेक मुक़ाबले पर हिन्दी चेसबेस इंडिया चैनल पर दोपहर 4 बजे से सीधा प्रसारण भी किया जाएगा । पढे यह लेख और देखे विडियो  

रोजुम इवान ने जीता गुजरात इंटरनेशनल का खिताब

03/10/2019 -

गुजरात स्पोर्ट्स चैस एसोसिएशन की देखरेख में अहमदाबाद के कर्नावती क्लब में 22 सितंबर 29 सितम्बर तक आयोजित हुए दूसरे गुजरात इंटरनेशनल ग्रांडमास्टर ओपेन चैस टूर्नामेण्ट का खिताब रुस के ग्रांडमास्टर इवान रोजूम ने आखिरी राउण्ड में आईएम निलाश साहा से अपना मैच आसानी से ड्रा कराकर, नाबाद रहते हुए 10 चक्रों के मैच में 8.5 अंक बनाकर अपने नाम कर लिया। टूर्नामेण्ट में 8 अंक बनाकर रोड्रिगो वास्केज, निलाश साहा, संदीपन चंदा संयुक्त रूप से दूसरे स्थान पर रहे। लेकिन बेहतरीन टाइब्रेक के आधार पर रोड्रिगो उपविजेता, निलाश साहा तीसरे और संदीपन क्रमशः चौथे स्थान पर रहे। संदीपन और रोड्रिगो ने अपना कोई भी मैच नहीं गंवाया और दोनों ने ही अपने आखिरी राउण्ड में जीत दर्ज की। पढ़े नितेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट

विश्व कप फ़ाइनल M3: तैमूर का पलटवार:हिसाब बराबर

02/10/2019 -

कहते है की शतरंज में अगर आप एक मुक़ाबला हार जाये तो उसको तुरंत भूल जाने में ही भलाई है ,पर हम सब जानते है की दरअसल ऐसा करना कितना मुश्किल काम है । पर अगर आप विश्व कप को जीतना चाहते है तो आपके अंदर यह क्षमता होनी ही चाहिए और ऐसा ही कुछ कर दिखाया है अजरबैजान के तैमूर राद्जाबोव नें । राउंड 2 में चीन के डिंग लीरेन से हारने के बाद सभी को ऐसा लगा की अब विश्व कप का खिताब डिंग के लिए जीतना आसान होगा पर तीसरे राउंड में गज़ब की संघर्ष क्षमता दिखाते हुए तैमूर नें ना सिर्फ जीत दर्ज की बल्कि स्कोर को बराबर करते हुए विश्व कप के रोमांच को चरम पर पहुंचा दिया । सफ़ेद मोहरो से हासिल हुई इस जीत के दम पर तैमूर नें अपने खिताब जीतने की संभावना को पुनः जीवित कर लिया है और अब अंतिम राउंड बेहद महत्वपूर्ण हो गया है । तीसरे स्थान के लिए फ्रांस के मेक्सिम लागरेव और चीन के यांगयी के बीच लगातार तीसरा मुक़ाबला ड्रॉ रहा । पढे यह लेख और देखे विडियो ।